आपके सोने के तरीके से पता चलता है की आप कैसे इंसान है….लड़कियां ज़रूर देखें

0
784

दोस्तों, हर इंसान का सोने का तरीका अलग अलग होता है और अलग अलग पसंद भी होती है। नींद लेना हमारे स्वास्थ्य के लिया अच्छा होता है, लेकिन अगर आप ज़्यादा या काम नींद लेते हैं तो ये आपको स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी हो सकता है।

अलग अलग शोधकर्ताओं का ये मानना है की लोगों के सोने के तरीके से उनके व्यक्तित्व के बारे में पता किया जा सकता है। कुछ शोधकर्ताओं ने अनेक लोगों पर शोध करके ये दावा किया है की लोगों के सोने के तरीके से उनके व्यक्तित्व के बारे में भी जाना जा सकता है।

आइये जानते हैं कौनसी वो सोने की अवस्थाएं हैं जिनसे आप लोगों के व्यक्तित्व को पहचान सकते हैं।

1. भ्रूण के जैसी
आपने गर्भ में पल रहे बच्चे को तो देखा ही होगा, दोनों घुटनों को मोड़कर एक गोल बॉल की तरह अपना शरीर बनाकर सोना बड़ा आरामदायक लगता है। लेकिन ऐसे सोने का तरीका सबसे घातक हो सकता है।
इस तरह सोने से आपकी spinal cord टेढ़ी हो जाती है और उसपर stress पड़ता है। और ये आपके spinal cord और रीढ़ की हड्डी के लिए अच्छा नहीं होता। और दूसरा नुक्सान ये है की इस अवस्था में सोने की वजह से आप सांस ठीक से नहीं ले पाते।

ऐसी सोने वाले लोगों के बारे में कहा जाए, तो इन लोगों को दूसरों से सुरक्षा पाने की आशा होती है। इनको लगता है की लोग इनकी बात समझें और इनसे सहानुभूति रखें। ये नए लोगों से पहचान बढ़ाने से भी डरते हैं और उनसे घुल मिल जाने में भी काफी समय लगाते हैं।

देखा जाए तो ये औरतों की सबसे पसंदीदा अवस्था है। इस तरह से सोने वाली महिलाएं काफी sensitive और शर्मीले स्वभाव की होती हैं और बहुत ज़्यादा चिंता भी करती हैं। ये कभी अपने पति या बॉयफ्रेंड को देखा नहीं देती और परिवार वालों के साथ मिल जुलकर रहना पसंद करती हैं।

2. लॉग पोजीशन
अपने एक बाज़ू की तरफ भार देकर सोने की स्थिति को लॉग पोजीशन कहा जाता है, जिसमें शरीर एकदम straight रहता है। अगर आपको पीठ दर्द की दिक्कत है तो ये स्थिति आपके लिए सबसे उत्तम है। अगर आपको एसिडिटी की भी प्रॉब्लम है तो ये स्थिति आपके लिए भी उत्तम है। इसमें एक नुक्सान भी है, सोने के बाद कभी कभी आपका ऊपर का पैर निचे की तरफ सरक जाता है जिससे आपको पीठ दर्द की प्रॉब्लम हो सकती है।

इस स्थिति में सोने वाले लोगों के बारे में कहा जाए तो ये दूसरों पर जल्दी विस्वास कर लेते हैं। और इनको साधारण जीवन जीना बहुत पसंद होता है। ये नए लोगों के साथ जल्दी घुल मिल जाते हैं और कभी लोग इनके भोलेपन का फायदा भी उठा लेते हैं। ये अगर किसी से नाराज़ हो जाते हैं तो उसके बारे में ये कभी किसी को नहीं बताते हैं।

वक्त पर काम करना इनकी आदत होती है। मतलब इनके बारे में अगर कहा जाए तो ये हर काम नियमित रूप से ही करते हैं।

3. सोल्जर पोजीशन
अपने बाजुओं को साइड में रखकर पीठ के बल सोने की स्थिति को सोल्जर पोजीशन कहते हैं। ये स्थिति आपके स्वस्थ्य के लिए सबसे उत्तम स्थिति है। अगर आपको एसिडिटी की प्रॉब्लम है तो ये आपके लिए सबसे उत्तम है। कुछ शोधकर्ताओं का ये मानना है की ऐसी स्थिति में सोने वाले लोग ख़र्राटे बहुत जायदा लेते हैं।

ऐसी स्थिति में सोने वाले लोगों को स्वयं से बहुत ज्यादा उम्मीदें होती हैं। ये स्वयं पर बहुत ज्यादा भरोसा करते हैं और इनको यकीन होता है की ये कोई भी काम बड़ी आसानी से कर सकते हैं। इनका स्वभाव बाकियों के मुकाबले शांत और स्थिर होता है, लेकिन ये अपनी बात पर अड़े रहते हैं।

इनमें किसी भी बात पर पलटी मारने वाला स्वभाव नहीं होता है। ये जो भी काम हाथ में लेते हैं, उसे पूरी लगन के साथ पूरा करने की कोशिश करते हैं। दूसरों की मदद करने इनको अच्छा लगता है। इनको नयी नयी चीज़ें सीखना भी बहुत पसंद होता है, हमेशा कुछ न कुछ नया सीखने की कोशिश करते रहते हैं।

4. फ्री फॉल पोजीशन
अपने पेट के बल सोना आपकी पाचन क्रिया में मदद करता है, लेकिन फिर भी ये आपकी सेहद के लिए अच्छा नहीं है। इस पोजीशन में सोने पर आपको सांस लेने के लिए अपनी गर्दन को बार बार घुमाना पड़ता है, जिसकी वजह से आपकी गर्दन में दर्द होने लगता है।

ऐसी स्थिति में सोने वाले लोग के बारे में कहा जाए तो ये लोग प्रेम के भूखे होते हैं, इनको प्रेम की आवश्यकता होती है। इनको सपने देखने की भी आदत होती है। अगर इनका समाज में अपमान होता है तो ये उसे अपने मन में दबाकर रखते हैं और वक़्त आने पर उसका सही तरीके से बदला भी ले लेते हैं।

इनको हमेशा लगता है की लोग इनका सम्मान करें और इनका सम्मान ना करने वाले लोगों से ये हमेशा दूरी बनाकर रखते हैं। ये अपने खान पान और शरीर पर काम ही ध्यान देते हैं। इनको समय गंवाना बिलकुल भी पसंद नहीं होता इसलिए ये किसी के भी साथ अनावश्यक बातों पर चर्चा नहीं करते हैं।

5. अभिलाषी स्थिति
सोते समय अपने दोनों हाथों को अपने सामने रखने की स्थिति को अभिलाषी स्थिति कहा जाता है। इनको भी पीठ दर्द सम्बंधित प्रॉब्लम हो सकती है और कभी कभी कन्धों में भी दर्द होता है। अगर एसिडिटी की प्रॉब्लम है तो ये स्थति भी आपके लिए उत्तम मानी जा सकती है।

ऐसी स्थिति में सोने वाले लोग के बारे में कहा जाए तो ये लोग काफी शांत और विश्वसनीय होते हैं। इनका अपमान करना लगभग नामुमकिन होता है। ये किसी की भी बातों को दिल से नहीं लगाते हैं और तुरंत भूल जाते हैं। इनको भविष्य की चिंता ज्यादा नहीं सताती है। ये हर काम सही ढंग से करते हैं और उसे पूरा किये बगैर आगे नहीं बढ़ते हैं। ये नयी जगह पर आसानी से ढल जाते हैं। इनके जीवन में अगर कोई बदलाव होता है तो वो उसे adjust करना जानते हैं।

कोई इन्हें धोखा भी नहीं देता है, अगर कोई इन्हें धोखा दे देता है तो दुखी होकर ये समय नहीं गंवाते, बल्कि आगे बढ़ते हैं।

6. स्टार फिश पोजीशन
हाथो को अपने सर से थोड़ा ऊपर रखकर पीठ के बल लेटने वाली स्थिति को स्टार फिश पोजीशन कहा जाता है। ये सबसे healthy position मानी जाती है, लेकिन फिर भी इनको कभी कभी कन्धों में दर्द हो सकता है। क्यूंकि ज्यादा दबाव कन्धों पर ही आता है।

ऐसी स्थिति में सोने वाले लोग के बारे में कहा जाए तो ये लोग good listener होते हैं। आगे वाला व्यक्ति कितना भी बोरिंग भाषण दे रहा हो, तब भी ये उसे ध्यान से सुनते हैं। और इसी खूबी की वजह से इनके काफी सारे दोस्त होते हैं। लोग इनके साथ हमेशा बारे शेयर करना पसंद करते हैं। इनके शांत रहने के स्वभाव के कारण इन्हें काफी विश्वसनीय माना जाता है।

तो ये थी वो सोने की 6 स्थितियां जिनसे व्यक्ति की व्यक्तित्वा के बारे में पता किया जा सकता है। आप कोनसी स्थिति में सोते हैं हमें comment section में जरूर बताएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here